जानें वजह: भारतीय महिलाएं सबसे ज्यादा बनाती हैं पति को उल्लू, छुपकर चलाती हैं एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

शादी के बाद पति-पत्नी का रिश्ता बेहद ही अहम हो जाता है। इस रिश्ते को सुचारू रूप से चलाने के लिए दोनों की भूमिका अहम होती है। यह रिश्ता जितना नाजुक होता है उतना ही अहम होता है। इस रिश्ते को बनाए रखने के लिए दोनों पार्टनर्स को एक-दूसरे के बारे में सोचना पड़ता है। ऐसे में अगर दोनों में से एक भी पार्टनर दूसरे को धोखा देता है। तो इससे रिश्ते में खटास आती है और रिश्ता खराब हो जाता है। अमूमन यह देखने को भी मिलता है। आजकल लोग एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की तरफ ज्यादा आकर्षित होते हैं। इसलिए आज हम आपको एक सर्वे से मिली जानकारी के द्वारा बताएंगे कि भारतीय महिलाएं क्यों देती हैं अपने पति को धोखा।

विवाहेतर डेटिंग एप ग्लीडेन के अनुसार उसने एक सर्वे में पाया कि भारत में 10 में से सात महिलाएं अपने पति को धोखा देती हैं, क्योंकि वे घरेलू कामों में हिस्सा नहीं लेते हैं. कई महिलाओं ने अपने साथियों को इसलिए धोखा दिया, क्योंकि उनकी शादी नीरस हो गई थी.

ग्लीडेन, जिसका भारत में पांच लाख से अधिक लोग उपयोग करते हैं, ‘महिलाएं क्यों व्यभिचार करती हैं’ शीर्षक से एक सर्वेक्षण में खुलासा किया कि बेंगलुरू, मुंबई और कोलकाता जैसे महानगरों में ऐसी महिलाओं की अधिकतम संख्या है, जो अपने पतियों को धोखा देती हैं.

ग्लीडेन में विपणन विशेषज्ञ, सोलेन पैलेट ने आईएएनएस को बताया, “10 में से चार महिलाओं का मानना है कि अजनबियों के साथ मौजमस्ती के बाद उनके जीवनसाथी के साथ उनका रिश्ता और अधिक मजबूत हुआ है.”

पांच लाख भारतीय ग्लीडन यूजर्स में से 20 फीसदी पुरुषों और 13 फीसदी महिलाओं ने अपने जीवनसाथी को धोखा देने की बात स्वीकार की. ग्लीडन एप को 2009 में फ्रांस में लॉन्च किया गया था. यह 2017 में भारत में आया और आज, भारत में इसके 30 प्रतिशत सदस्य हैं. इनमें 34 साल और 49 साल आयु-वर्ग की विवाहित महिलाएं शामिल हैं.

लगभग 77 प्रतिशत भारतीय महिलाओं ने इस बात को माना कि उनके अपने पति को धोखा देने का कारण यह था कि उनकी शादी नीरस हो गई थी और शादी से बाहर एक साथी को खोजने से उन्हें अपने जीवन में उत्साह का अहसास हुआ.सर्वेक्षण से यह भी पता चला है कि भारत में, पारंपरिक विवाह में फंसे समलैंगिक लोगों को भी बढ़ती संख्या में अपने लिए इसकी मदद से साथी मिल रहे हैं.

Loading...

You may also like...